वतन वापसी पर अभिनंदन का अभिनंदन I

2019-03-02 01:15:10
KTV24News दिल्ली  (विनय कौशिक)
भारी दबाव व घंटों इंतजार के बाद आखिरकार पाकिस्तान ने विंग कमांडर अभिनंदन को लगभग रात्रि 9:21 पर भारत को सौंप दिया I
बताते चलें कि  पाकिस्तान की तरफ से यह बयान के बाद कि अभिनंदन को कल भारतीय सेना को सौंपा जाएगा I
सुबह से ही अटारी बॉर्डर पर हजारों की संख्या में भारतीय झंडे ढोल नगाड़े लेकर बॉर्डर पर अपने विंग कमांडर अभिनंदन के स्वागत लिए लोग मौजूद रहे
सुरक्षा के मद्देनजर भारत में कल दूसरी बार बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम कैंसिल कर दिया था I
अटारी बॉर्डर पर जो लोग बीटिंग द रिट्रीट देखने आए थे उनके चेहरे पर जरा सी भी मायूसी नहीं थी बल्कि उनका कहना था कि बीटिंग द रिट्रीट देखने  से बड़ी बात यह है कि आज हम अपने देश के अभिनंदन को अपनी आंखों के सामने देखेंगे I
पाकिस्तान मैं होने वाले बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम को कैंसिल नहीं किया क्योंकि पाकिस्तान चाहता था कि वह इस को अपने मीडिया में बढ़-चढ़कर दिखाएं I पाकिस्तान द्वारा अभिनंदन का एक वीडियो भी जारी किया जिसमें अभिनंदन पाकिस्तान की सेना की बढ़ाई करते दिख रहे हैं और भारतीय मीडिया की बुराई करते दिख रहे हैं बताते चलें कि इस वीडियो में लगभग 20 कट है मतलब यह है कि यह वीडियो लगभग 20 बार एडिट करके जनता के सामने पेश किया गया है I
पाकिस्तान द्वारा लगभग तीन तीन बार विभिन्न विभिन्न समय की घोषणा की गई उसके बाद लगभग 5 गाड़ियों के काफिले के साथ अभिनंदन को बाघा बॉर्डर पर लाया गया जहां बीटिंग द रिट्रीट कार्यक्रम होने के पश्चात भारतीय वायु सेना को सा सम्मान विंग कमांडर अभिनंदन को सौंप दिया गया I
बताते चलें कि पाकिस्तान ने दो बार अभिनंदन की रिहाई का समय बदला पहले लगभग 4:00 बजे सौंपने की बात कही उसके बाद 6:30 बजे का समय दिया गया आखिरकार रात में 9:21 पर विंग कमांडर अभिनंदन को भारतीय वायुसेना को सौंप दिया गया I विंग कमांडर अभिनंदन ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा कि मैं अपने देश लौट कर बहुत खुश हूं I
विंग कमांडर अभिनंदन को लगभग रात 12:00 बजे वायुसेना के विमान से दिल्ली पहुंचाया गया जहां उन्हें सेना के अस्पताल में ले जाया गया बताया जा रहा है कि मेडिकल जांच में यदि प्रताड़ना का पता चला तो इंटरनेशनल रेड क्रॉस सोसाइटी जांच करेगी इसके बाद इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में पाक के खिलाफ मुकदमा किया जा सकता है I
भारत के विंग कमांडर अभिनंदन 60 घंटे बाद अपने वतन वापस आ गए हैं। बॉर्डर पर पहुंचते ही उन्होंने अपने अधिकारी से मुलाकात की। बाद में मीडिया ने उस अधिकारी से पूछा कि अभिनंदन ने सबसे पहले क्या बोला। तब उन्होंने कहा कि अभिनंदन के सबसे पहले के शब्द थे कि वतन लौटने से खुश हूं I

संबंधित ख़बरें